इम्तियाज अंसारी के हैंडलूम शिल्प पर योगी भी हो चुके फिदा

राजेश / फरीदाबाद ( हरियाणा )

बनारस निवासी इम्तियाज अंसारी अपनी पुश्तैनी कला को लगातार न केवल संवार रहे हैं, बल्कि उसे शिखर पर पहुंचाने का भी प्रयास कर रहे हैं.इमत्याज अंसारी के पूर्वज पीढ़ी दर पीढ़ी हैंडलूम से विभिन्न तरह के वस्त्र तैयार करते आ रहे हैं. इम्तियाज अंसारी की यूनिट में तैयार होने वाले सभी आयटमों के लाखों कद्रदान हैं, लेकिन उनके यहां बनी बनारसी साड़ी हर किसी को अपना दीवाना लेती है.

इम्तियाज अंसारी बताते हैं कि वर्ष 2018 में उन्होंने दिल्ली के प्रगति मैदान में आयोजित व्यापार मेले में हैंडलूम और पॉवरलूम से बने कपड़ों की प्रदर्शनी लगाई थी. उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जब उनके स्टॉल पर आए, तो वो भी उनके काम की तारीफ किये बिना नहीं रह पाए. इस बार हरियाणा के शहर फरीदाबाद के सूरजकुंड हस्तशिल्प मेले में उन्हें स्टॉल नंबर 939 अलॉट हुआ है, जहां वे हैंडलूम शिल्प के नायाब नमूनों का प्रदर्शन कर रहे हैं.

29 वर्षीय इम्तियाज अंसारी ने बताया, ‘‘यूं तो हैंडलूम वर्क मेरा पुश्तैनी काम है, लेकिन मुझे इस काम को अपनाने की प्रेरणा अपने पिता हाजी अब्दुल कुदुस से मिली है. मैंने किशोर अवस्था में ही पिता के काम में सहयोग करना शुरू कर दिया था. अपने पिता से सीखे हुनर में वक्त के साथ-साथ मेरे काम में भी निखार आता गया.

उन्होंने बताया कि बनारस में स्थित उनके यूनिट में हैंडलूम (हाथ से चलने वाली मशीनें) और पॉवरलूम (बिजली से चलने वाली मशीनें) से काम किया जाता है. उनकी यूनिट में पहले रेश्म सिल्क, कॉटन, मूंगा और कोटा धागे से कपड़ा तैयार किया जाता है, जिसके बाद कपड़ों की रंगाई की जाती है. कपड़ों को रंगने के बाद उस पर हैंडलूम और पॉवरलूम वर्क किया जाता है.

उन्होंने बताया कि वे पिछले करीब सात सालों से देश के कई महत्वपूर्ण मेलों में अपने स्टॉल लगा रहे हैं. हर बार दर्शक उनके स्टॉल से बनारसी साड़ी, दुपट्टों और लेडीज सूट की जमकर खरीदारी करते हैं. विगत सूरजकुंड मेले में उन्होंने छह लाख रुपये की बिक्री की थी. उनके यहां में 1200 से 60 हजार रुपये की बनारसी साड़ी और तीन से सात हजार रुपये के सूट मौजूद हैं.

उन्होंने बताया कि वह दिल्ली में व्यापार मेला, दिल्ली हाट और देश विभिन्न हिस्सों में लगने वाले मेले और प्रदर्शनियों में अपने स्टॉल लगाते हैं. इमत्याज ने बताया कि वे जल्दी ही वह भी राष्ट्रीय और प्रांतीय आवार्ड के लिए दावेदारी भी करेंगे.

साभार: आवाज द वॉइस

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here