Winter Olympics : पोडियम पर तिरंगा लेकर खड़ा होने का सपना लिए मुहम्मद आरिफ खान बीजिंग रवाना

उत्तरी कश्मीर के बारामूला जिले के तंगमर्ग इलाके के मुहम्मद आरिफ खान ने शीतकालीन ओलंपिक खेलों की दो स्पर्धाओं में  क्वालीफाई किया है. इसमंे भाग लेने के लिए वह बीजिंग के लिए रवाना हो गए. बीजिंग में 4 फरवरी से विंटर ओलंपिक षुरू हो रहा है, जो 20 फरवरी तक चलेगा.उनकी इस उपलब्धि से जम्मू-कश्मीर के साथ सारा भारत गदगद है.

शीतकालीन ओलंपिक 2022

बीजिंग शीतकालीन ओलंपिक कुछ ही दिनों में चीन के शहर बीजिंग में शुरू होने वाले हैं. इस बीच इन खेलों में भारत का प्रतिनिधित्व करने वाले स्कीयर मुहम्मद आरिफ खान चीन के लिए रवाना हो गए.मुहम्मद आरिफ खान ऑस्ट्रेलिया में 35 दिनों के प्रशिक्षण के बाद ओलंपिक में भाग लेने से पहले कुछ दिनों के लिए दोस्तों और माता-पिता से मिलने कश्मीर घाटी आए थे.

arif

इस दौरान उन्होंने न केवल अपना अभ्यास जारी रखा था, लोगों से दूरी भी बनाए रखी. उन्होंने मीडिया से संक्षिप्त बातचीत मंे कहा, ‘‘मुझे सफलता की उम्मीद है. मैं पूरी तरह से तैयार हूं.‘‘ उन्होंने कहा, ‘‘ओलंपिक के लिए क्वालीफाई करने से पहले कश्मीर में अभ्यास करने और अब अभ्यास करने के बीच बड़ा अंतर आया है.

लोग अब मेरा अधिक सम्मान करते हैं. मेरे पास विभिन्न विचारों के साथ आते हैं.‘‘ उन्होंने बताया कि स्कीइंग में एथलीटों की रुचि बढ़ी है. ख्ह अच्छी बात है. उन्होंने कहा कि वक्त मिला तो नए खिलाड़ियों के साथ अपने अनुभव साझा करने से पीछे नहीं हटूंगा.

बता दें कि ओलंपिक में भाग लेने वाले स्क्वायर आरिफ खान को गणतंत्र दिवस पर सम्मानित किया है. आरिफ खान कहते हैं कि मुझे कश्मीर घाटी की बजाए ओलंपिक में देश का प्रतिनिधित्व करने पर गर्व महसूस हो रहा है. उनके अनुसार, कश्मीर में वह सब कुछ है जो एथलीटों की जरूरत है. इन खेलों के लिए मोहम्मद आरिफ खान ने 2011 में दक्षिण एशियाई शीतकालीन खेलों में स्लैलम प्रतियोगिताओं में दो स्वर्ण पदक जीते थे.

आरिफ खान बताते हैं कि उनका लक्ष्य ओलंपिक में पदक और तिरंगे के साथ पोडियम पर खड़ा होना है. उन्होंने पहले स्लैलम इवेंट के लिए कोटा हासिल किया था.इस उपलब्धि के चलते खान दो अलग-अलग शीतकालीन ओलंपिक में सीधे कोटा प्राप्त करने वाले पहले भारतीय खिलाड़ी हैं.

साभार: आवाज द वॉइस

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here