हजरत मखदूम की दरगाह पर परचम ए रिसालत का झंडा फहराया गया

मुंबई, 28 सितंबर। रजा एकेडमी के संस्थापक अल्हाज मुहम्मद सईद नूरी के नेतृत्व में प्रसिद्ध दरगाह कुतुब कोकण हुजूर मखदूम पाक की दरगाह पर ट्रस्टी सोहेल खंडवानी की उपस्थिति में परचम ए रिसालत फहराया गया। इस मौके पर  मुहम्मद सईद नूरी ने कहा कि पैगंबर ﷺ का जन्म पूरी दुनिया के लिए एक ऐतिहासिक दिन है। आशिकाने रसूल ﷺ अपने पैगंबर ﷺ का जन्म का जश्न बड़ी धूमधाम से मनाते हैं।  उन्होने कहा कि यह हमारे लिए बहुत खुशी की बात है कि हम अपने घरों पर पैगंबर ﷺ का झंडा फहराते हैं।

वहीं अमन मिल्लत मौलाना अमानुल्लाह रजा ने रबीउल अव्वल के बारे में कहा चूंकि यह महीना पवित्र पैगंबर ﷺ के जन्म का पवित्र महीना है, इसलिए सभी मुसलमान हमेशा पैगंबर ﷺ के जन्म का जश्न मनाने के लिए इस महीने में इकट्ठा होते रहे हैं। मिलाद-उल-नबी सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम के दिन अल्लाह की रहमतों से फैजयाब होते है।

दरगाह समिति के अध्यक्ष सोहेल खंडवानी ने कहा कि रजा एकेडमी प्रमुख ने घर-घर में पैगंबर ﷺ का झंडा फहराने का सबसे अच्छा सुझाव दिया है। इस साल हम सभी आशिकाने रसूल ﷺ को इसका पालन करना चाहिए। ईद मिलादुल नबी के मौके पर हर मुसलमान को रसूलुल्लाह ﷺ का झंडा घर-घर फहराकर अपनी गुलामी का सबूत दिखाना जरूरी है।

इस दौरान आल इंडिया सुन्नी जमीयत उलमा के अध्यक्ष हजरत मोइन अल-मशाईख हजरत मौलाना सैयद मोइनुद्दीन अशरफ अल जिलानी, इब्राहिम ताई, हाफिज जुनैद, मुहम्मद खालिद रजा उर्फ ​​शेख भाई, मुहम्मद हसन रज़वी, मुहम्मद नाजिम खान, यासीन केल्को आदि मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here