सज्जाद हुसैन मलिक ने राष्ट्रीय स्तर पर लहराया भारत का परचम

सज्जाद हुसैन मालिक इनकी कहानी जम्मू कश्मीर के एक छोटे से गाँव से शुरू होती है जो की एक साधारण इंसान से बने एक सफल पुलिस अधिकारी रहते हुए एक अंतर्राष्ट्रीय वॉलीबाल खिलाडी भी रह चुके हैं। सज्जाद हुसैन पूर्व अंतर्राष्ट्रीय वॉलीबाल खिलाड़ी और पूर्व राष्ट्रीय पुरुष वॉलीबाल कोच भी रह चुके हैं। अब जो एक गतिशील पुलिस अधिकारी हैं।

सज्जाद जम्मू के रामबन जिले के बनिहाल क्षेत्र के एक सुदूर नील गांव के रहने वाले हैं जरीना बेगम और अब्दुल रहमान के सबसे बड़े बेटे हैं उन्होंने गवर्नमेंट हाई स्कूल परिहिन्दर से कक्षा 10वीं गवर्नमेंट हायर सेकेंडरी स्कूल रामबन से 12वीं पास की और 1996 में जीजीएम साइंस कॉलेज जम्मू से ग्रेजुएशन किया।

सज्जाद कहते हैं की 1998 में उन्हें उनकी खेल में रूचि और मेहनत और शारीरिक फिटनेस के आधार पर जम्मू कश्मीर पुलिस में सब इंस्पेक्टर के रूप में चुना गया था।

वो बताते हैं की 10 वीं कक्षा से ही खेल में फुर्ती होने की वजह से स्थानीय स्तर पर वॉलीबॉल खिलाड़ी के रूप में अपने करियर की शुरुआत की थी फिर वो कॉलेज और राज्य स्तर पर खेले और फिर अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर देश के लिए खुलते हुए अपनी टीम का प्रतिनिधित्व भी किया।

वो कहते हैं की उनके पिता ने उनको वॉलीबॉल को अपने करियर के रूप में चुनने के लिए प्रेरित किया उन्होंने अपने दम पर मेरे लिए प्रशिक्षण की व्यवस्था की और विभिन्न स्तरों पर कोचिंग प्रदान की और उस का परिणामन ये हुआ की मैंने अपने करियर में कई लक्ष्य हासिल किए।

उन्होंने अपनी सफलता के लिए अपने वॉलीबॉल कोच रतन चंद वॉलीबॉल एसोसिएशन ऑफ जम्मू-कश्मीर और पुलिस विभाग के योगदान को भी याद किया।

सज्जाद ने 2018 में कालीकट हीरोज और 2022 में अहमदाबाद डिफेंडर्स को कोचिंग दी उनकी कोचिंग के तहत अहमदाबाद डिफेंडर्स प्रो वॉलीबॉल लीग इंडिया में उपविजेता रही उन्होंने पहले जम्मू और कश्मीर राज्य टीम जम्मू और कश्मीर पुलिस वरिष्ठ टीम को कोचिंग दी और वह भारतीय राष्ट्रीय वॉलीबॉल टीम के कोचिंग स्टाफ थे वह 2005 से कोचिंग दे रहे हैं और एफआईवीबी लेवल 1 और लेवल 2 कोच हैं वह जम्मू-कश्मीर राज्य वॉलीबॉल टीम के कप्तान भी थे।

सज्जाद को हाल ही में जम्मू-कश्मीर पुलिस में पुलिस उपाधीक्षक (उप-एसपी) के पद पर पदोन्नत किया गया था।

ईरान में आयोजित एक अंतरराष्ट्रीय कार्यक्रम के लिए 2010 और 2012 में भारतीय वॉलीबॉल टीम के लिए एक कोच के रूप में प्रतिनियुक्त किया गया वह 2012 और 2013 में ट्यूनीशिया में आयोजित अंतर्राष्ट्रीय आमंत्रण टूर्नामेंट में भारतीय वॉलीबॉल टीम के कोच भी थे वह जम्मू-कश्मीर पुलिस वॉलीबॉल टीम के मुख्य कोच भी हैं।

जबकि सज्जाद  हुसैन ने 2013 में तुर्की में जूनियर विश्व वॉलीबॉल चौम्पियनशिप में कोच के रूप में भारत का प्रतिनिधित्व किया था वह 2014 में बहरीन में भारतीय जूनियर वॉलीबॉल टीम के कोच भी थे सज्जाद को वॉलीबॉल कोचिंग के क्षेत्र में सोलह वर्षों का व्यापक अनुभव है और उन्होंने खिलाड़ियों के वॉलीबॉल खेलने के कौशल में सुधार करके विभिन्न राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय टूर्नामेंटों में शानदार परिणाम हासिल किए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here