एनएसए डोभाल की पहल, इंडोनेशिया के शीर्ष मंत्री और उलेमा करेंगे अंतर्धार्मिक सद्भाव चर्चा

आवाज द वॉयस /नई दिल्ली.
राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल के निमंत्रण पर, इंडोनेशिया के शीर्ष मंत्री डॉ मोहम्मद महफुद एमडी अगले सप्ताह दिल्ली में होंगे. डॉ मोहम्मद महफूद इंडोनेशिया के राजनीतिक, कानूनी और सुरक्षा मामलों के समन्वय मंत्री हैं. उनके साथ उलेमा का एक उच्च स्तरीय प्रतिनिधिमंडल भी जाएगा. पता चला है कि एनएसए डोभाल उद्घाटन और समापन टिप्पणी करेंगे और यात्रा के अंत में संयुक्त बयान भी जारी किया जाएगा.

28 नवंबर को दौरे पर आए इंडोनेशिया के उलेमा अपने भारतीय समकक्षों से भी बातचीत करेंगे.  उनके बीच चर्चा ‘भारत और इंडोनेशिया में पारस्परिक शांति और सामाजिक सद्भाव की संस्कृति को बढ़ावा देने में उलेमा की भूमिका’ पर होगी.

doval

एक सूत्र ने बताया, ‘‘उलेमा इस्लामी समाज में बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं और इस तरह की चर्चा का उद्देश्य भारतीय और इंडोनेशियाई उलेमा और विद्वानों को एक साथ लाना है, जो सहिष्णुता, सद्भाव और शांतिपूर्ण सह-अस्तित्व को बढ़ावा देने और हिंसक उग्रवाद और कट्टरता का मुकाबला करने के लिए सहयोग को आगे बढ़ा सकते हैं.’’

तीन सत्र होंगे.

पहला इस्लाम परः निरंतरता और परिवर्तन, दूसरा अंतर-विश्वास समाज के सामंजस्य परः अभ्यास और अनुभव तथा अंतिम सत्र भारत और इंडोनेशिया में कट्टरता और उग्रवाद का मुकाबला करने पर होगा. यात्रा के दौरान इंडोनेशिया के उलेमा अन्य धर्मों के नेताओं के साथ भी बातचीत करेंगे.

इंडोनेशिया में दुनिया की सबसे बड़ी मुस्लिम आबादी है और भारत दुनिया में मुसलमानों की दूसरी सबसे बड़ी संख्या का घर है. एनएसए डोभाल ने इस साल मार्च में दूसरी भारत-इंडोनेशिया सुरक्षा वार्ता के लिए इंडोनेशिया का दौरा किया था. एनएसए ने तब मंत्री महफुद को भारत आने का न्योता दिया था.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here