राज ठाकरे ने कार्यकर्ताओं से कहा: ईद खुशी से मनाएं, आरती न करें

लाउडस्पीकर विवाद के बीच, महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के प्रमुख राज ठाकरे ने सोमवार को अपनी पार्टी के कार्यकर्ताओं से आरती नहीं करने या ऐसा कुछ भी नहीं करने की अपील की जिससे 3 मई को ईद समारोह बाधित हो।

उन्होंने ट्वीट किया, ‘कल ईद है। मैं इसके बारे में पहले ही बोल चुका हूं। मुस्लिम समुदाय के इस त्योहार को हर्षोल्लास के साथ मनाया जाना चाहिए। पहले जो तय किया गया था उसके अनुसार इस पर्व के दिन आरती न करें। लाउडस्पीकर का मुद्दा धार्मिक नहीं बल्कि सामाजिक है।

उन्होंने आगे कहा, “कल एक ट्वीट के जरिए आपको अगला कदम बताऊंगा। अभी के लिए, बस इतना ही।”

यह बयान तब आया जब उन्होंने रविवार को औरंगाबाद में एक विशाल रैली में कहा कि अगर ईद के बाद महाराष्ट्र में मस्जिदों से लाउडस्पीकर नहीं हटाए गए, तो वह यह सुनिश्चित करेंगे कि मुस्लिम धार्मिक स्थलों के बाहर हनुमान चालीसा को ‘दोहरी शक्ति’ से बजाया जाए।

उन्होंने कहा था, “ईद 3 मई को है। मैं उत्सव को खराब नहीं करना चाहता। लेकिन हम 4 मई के बाद नहीं सुनेंगे। अगर हमारी मांग पूरी नहीं हुई तो हम दोहरी शक्ति के साथ हनुमान चालीसा पड़ेंगे। अगर आप हमारे अनुरोध को नहीं समझते हैं, हम इससे अपने तरीके से निपटेंगे। मैं 4 मई से चुप नहीं रहने वाला हूं। अगर तब तक लाउडस्पीकर नहीं हटाए गए, तो मैं आपको महाराष्ट्र की ताकत दिखाता हूं।”

राज ठाकरे ने कहा कि उन्हें महाराष्ट्र में “दंगा भड़काने में कोई दिलचस्पी नहीं है”। उन्होंने कहा, “लेकिन लाउडस्पीकर सार्वजनिक जीवन को अस्त-व्यस्त कर रहे हैं। नासिक में एक मुस्लिम पत्रकार ने मुझे बताया कि उनका बच्चा मस्जिदों में लाउडस्पीकर के कारण पीड़ित है। उन्होंने कहा, अगर उत्तर प्रदेश लाउडस्पीकर हटा सकता है, तो महाराष्ट्र क्यों नहीं? सभी अवैध हैं,”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here