हबीब खान एक ऑटो चालक लोगों को मुफ्त में पिलाता है ठंडा पानी

हैदराबाद के हबीब खान अपने ऑटो रिक्शा में पीने वाले पानी की टंकी साथ ले के चलते हैं खास कर गर्मियों में ताकि प्यासों को पानी पीला सके उन्होंने ने ऑटो में ही नल का सिस्टम लगयाया है ताकि प्यासों को आसानी से पानी पिलाया जा सके।

ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तिहाद-ए-मुस्लिमीन के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने उनके ऑटो टंकी से पानी की चुस्की ली और उनका उत्साह बढ़ाया।

हबीब खान ने अपने ऑटोरिक्शा की पैसेंजर सीट के पिछले हिस्से में तीन वॉटर कैबिनेट्स लगवाए हैं। पाइप के जरिए ऑटोरिक्शा के बाहरी हिस्से पर एक नल लगाने में 800 रुपये का खर्च आया। चूँकि हबीब खान अपनी आजीविका कमाने के लिए कड़ी मेहनत करते हैं  वह सूरज गर्मी और प्यास की शिद्दत को अछि तरह समझ सकते हैं।

इसलिए उन्होंने यह कदम उठाया क्योंकि वह आम लोगों के प्रति सहानुभूति रखते हैं और इस भीषण गर्मी में उन्हें ठंडा पानी पीने की जरूरत को समझते हैं।

वह यात्रियों और राहगीरों को मुफ्त में ठंडा पानी पिलाते  हैं लोगों को पानी परोसने के लिए प्रतिदिन 150 रुपये का खर्च आता है जो की वह अपनी आमदनी में से ही खर्च करते हैं।

 60 वर्षीय हबीब खान शास्त्री शहर के पुरम इलाके की जैन कॉलोनी के रहने वाले हैं. वह चार बेटों और एक बेटी के पिता हैं और रोजाना 400 से 500 रुपये कमाते हैं।

हबीब खान हमेशा आम लोगों को पीने का पानी उपलब्ध कराना चाहते थे और इस साल वह इस पर काम कर सके। ऐसा तब हुआ जब एक दिन हबीब खान को अपनी बहन के घर से पानी का कनस्तर मिला। वह उसमें पानी भरकर लोगों को अर्पित करने लगे।

जबकि पहले वो लोगो को पानी पिलाने के लिए इस्लामिया कॉलेज के कनस्तर को ठंडे पानी से भर देते थे।  अब उन्होंने अपने ऑटोरिक्शा के बूट में तीन कनस्तर लगवाए और इन्हें ऑटोरिक्शा के बाहर नल पर समाप्त होने वाले पाइप के माध्यम से जोड़ा हुआ है।

AIMIM नेता असदुद्दीन ओवैसी जो शहर से संसद सदस्य भी हैं ने हबीब खान के पानी के आउटलेट पर फोन किया और उनकी सेवा की भावना के लिए उनकी प्रशंसा की। उन्होंने ने हबीब के कनस्तर से पानी भी पिया और जाने से पहले हबीब को गले से लगा लिया।

ओवैसी के हावभाव से हबीब खान रोमांचित और उत्साहित हो उठे।

हबीब खान ने कहा कि वह 20 साल से गाड़ी चला रहे हैं। वह अपना पानी लेकर जाते थे और मुफ्त में लोगों को देते थे। चूंकि केवल एक कनस्तर था, इसलिए पानी 15 मिनट में खत्म हो जाता था और वो खुद पानी लेकर आते थे।

हबीब का कहना है कि कई लोगों ने उन्हें मदद की पेशकश की है लेकिन वह इसे स्वीकार नहीं करते हैं। हबीब खान ने कहा कि लोग अपनी प्यास बुझाते हैं और उन्हें धन्यवाद देते हैं और उन्हें मन की शांति और खुशी मिलती है। उन्होंने कहा कि गर्मी खत्म होने के बाद भी यह सिलसिला जारी रहेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here