MSO बंगाल ने किया’इस्लाम में नेतृत्व और रोजगार’ पर सेमिनार आयोजित

कोलकाता: दक्षिण 24 परगना के बरूईपुर पुलिस स्टेशन के हिम्ची गाँव में मदरसा गौसिया में मुस्लिम स्टूडेंट्स ऑर्गेनाइजेशन ऑफ इंडिया (MSO) द्वार इस्लाम में नेतृत्व, मुसलमानों के रोजगार और निवेश पर एक संगोष्ठी का आयोजन किया गया।

इस दौरान खिदिरपुर दरबार शरीफ से पीर सैफुद्दीन अल कादरी, कलकत्ता उच्च न्यायालय के अधिवक्ता अब्दुल मबुद, प्रमुख व्यवसायी मो. जीनत अली और अन्य बुद्धिजीवी उपस्थित रहे।

अधिवक्ता अब्दुल मबूद ने मुस्लिम समुदाय में एकता पर ज़ोर दिया। जीनत अली ने उन कारणों के बारे में विस्तार से बताया जिससे मुस्लिम युवा रोजगार में पिछड़ रहे हैं और इस बात पर विस्तार से चर्चा की कि मुस्लिम युवाओं को व्यवसाय में कैसे निवेश करना चाहिए।

भारत के सबसे बड़े मुस्लिम छात्र संगठन, MSO के राष्ट्रीय सचिव, एडवोकेट अशफ़ाक अहमद असवी ने बताया कि MSO क्या है, MSO के लक्ष्य और उद्देश्य क्या हैं और MSO मुसलमानों को सही दिशा में कैसे निर्देशित कर सकता है।

अंत में, पीर सैफुद्दीन अल कादरी ने संगठन की आवश्यकता और महत्व पर संक्षेप में चर्चा की। उन्होंने एमएसओ के सलाहकार के रूप में काम करने का भी वादा किया।

पूरे कार्यक्रम का संचालन सोशल मीडिया के एमएसओ राज्य सचिव सैयद शाह समिरुल इस्लाम चिश्ती अल कादरी और मेराजुल इस्लाम मंडल द्वारा किया गया। एमएसओ बरूईपुर इकाई के संयोजक पूरे कार्यक्रम के संचालन के प्रभारी रहे। एमएसओ पश्चिम बंगाल राज्य समिति के सदस्य और राज्य उपाध्यक्ष सोशल मीडिया समन्वयक जहांगीर गाजी और अन्य भी उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here