गरीब बच्चों को मुफ्त शिक्षा देने के लिए MSO ने इलाहाबाद में खोला सेंटर

इलाहाबाद: सुन्नी-सूफी मुस्लिमों नौजवानों की सबसे बड़ी संस्था मुस्लिम स्टूडेंट्स ऑर्गेनाइजेशन ऑफ इंडिया (MSO) ने शिक्षा के महत्व पर जोर देते हुए रविवार को करेली में फ्री कोचिंग सेंटर का उदघाटन किया। इस कोचिंग सेंटर में गरीब बच्चों को मुफ्त शिक्षा दी जाएगी।

कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के तौर पर शामिल हुए डॉ कमरुल हसन सिद्दीकी ने ख़ानक़ाह ए मारहरा शरीफ के सज्जादनशीन हज़रत सय्यद अमीन मियां के ‘आधी रोटी खाएंगे, बच्चों को पढ़ाएंगे’ के नारे को लगाते हुए कहा कि देश का मुसलमान शिक्षा में काफी पिछड़ा हुआ है। जबकि इस्लाम में शिक्षा हासिल करने पर काफी जोर दिया गया है। उन्होने कहा कि कुरान का पहला शब्द है इकरा अर्थात पढ़। वहीं पैगंबर मुहम्मद (ﷺ) ने भी फरमाया कि अगर इल्म हासिल करने के लिए चीन भी जाना पड़े तो तो ज़रूर जाओ।

उन्होने कहा कि इस्लाम में शिक्षा हासिल करने को लेकर कोई भेदभाव नहीं है। इस्लाम में अमीर-गरीब, पसमांदा-अशराफ़, महिला-पुरुष, बच्चा-बूढ़ा सभी शिक्षा हासिल कर सकते है। इल्म का सफर मां की गोद से लेकर कब्र तक बताया गया है। इतना ही नहीं दीन का इल्म सीखना रात भर नवाफ़िल पढ़ने से भी अफजल है। बावजूद आज का मुसलमान शिक्षा के क्षेत्र में बेहद ही पिछड़ा हुआ है। उन्होने कहा कि मुस्लिम स्टूडेंट्स ऑर्गेनाइजेशन ऑफ इंडिया (MSO) ने गरीब बच्चों को शिक्षा देने का जो कदम उठाया है। वह काबिल ए तारीफ है।

इस मौके पर जिला अध्यक्ष एहतेशाम ने बताया कि इस संस्था का मकसद गरीब बच्चे जो पैसे के अभाव से शिक्षा ग्रहण नही कर पाते है। उन्हें मुफ्त में शिक्षा प्रदान करना है। तथा बच्चो को समय-समय पर कैरियर को लेकर गाइडेंस देना भी संस्था का मसकद है। इस कोचिंग के जरिये हम बच्चो को एएमयू, जामिया, जैसे टॉप यूनिवर्सिटी की प्रवेश परीक्षा की तैयारी कराएंगे। और सभी बच्चो को यूनिवर्सिटी में प्रवेश लेने तक पूरी मदद करेंगे। इसके अलावा बच्चों को राज्य-केंद्र सरकार सहित विभिन्न संस्थाओं से मिलने वाली स्कॉलरशिप भी प्राप्त करने में मदद करेंगे।

इस मौके डॉ आरिज़ कादरी, डॉ अरशद काफी, शहनवाज हुसैन, रहबर हुसैन, जफ़र सिद्दीकी, एम एसओ अध्यक्ष एहतेशाम हुसैन, उपाध्यक्ष अहमर सिद्दीक़ी, शहबाज़ हुसैन, आरिश सिद्दीकी अनवर हुसैन, दानिश रज़ा तारिक़ आदि लोग मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here