केसरगंज: SBI मैनेजर और स्टाफ की मनमानी से जनता त्रस्त, सुध लेने वाला कोई नहीं

केसरगंज/बहराइच। कोरोना महामारी के मद्देनजर लगाए गए लॉक डाउन को खत्म हुए एक लंबा वक्त गुजर चुका है लेकिन लॉकडाउन के बहाने स्थानीय स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (एसबीआई) की शाखा में कर्मचारियों की हठधर्मिता और मनमानी जारी है। जिसके नतीजे व्यापारी वर्ग और सामान्य खाताधारकों को परेशान होना पड़ रहा है।

स्थानीय ग्राहकों ने बताया कि बैंक में जब भी कोई ट्रांजैक्शन करने के लिए आते है तो घंटों इंतजार कराया जाता है और अंत में ग्राहकों को मायूस होकर लौटना पड़ता है। आए दिन बैंक स्टाफ द्वारा कभी सरवर नहीं होने तो कभी कनेक्टिविटी न होने का हवाला देकर मनमानी की जाती है। जिससे आमजन को ने केवल परेशानी उठानी पड़ रही है। बल्कि आर्थिक हितों का नुकसान भी झेलना पड़ रहा है।

इतना ही नहीं बैंक स्टाफ विशेष रुप से शाखा मैनेजर के अनुचित और असभ्य व्यवहार भी ग्राहकों के बढ़ते आक्रोश का सबब बन रहा है। शाखा मैनेजर द्वारा बुजुर्गों और महिलाओं से भी अशालीन और अनैतिक रवैया अपनाया जाता है। जिससे अब बड़े पैमाने पर एसबीआई ग्राहक अन्य बैंको का रुख करने को मजबूर है।

इस सबंध में इमर्जिंग बिजनेस चेंबर ऑफ कॉमर्स की और से स्टेट बैंक ऑफ इंडिया लखनऊ की ग्रीवेंस सेल में शिकायत भी दर्ज कराई गई। जिसमे बैंक मैनेजर सहित स्टाफ को तुरंत बदलने की मांग की गई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here