कौन थी महान शिक्षाविद बीबी सोगरा?

 

सय्यद अमजद हुसैन

बीबी सोगरा (1815-1908) जो कि एक भारतीय परोपकारी और शिक्षाविद थीं, जिनका जन्म गांव मोहिनी, ज़िला मुंगेर (अब शेखपुरा जिला, बिहार) में हुआ था। बीबी सोगरा के पिता का नाम अब्दुल समद था, वह मोहिनी के बड़े जमींदार थे। बीबी सोगरा शादी 21 साल के उम्र में बिहारशरीफ, नालंदा के जमींदार मौलवी अब्दुल अजीज से हुई थी जो की बड़े जमींदार फजल इमाम और बीबी जहूरन के बेटे थे। बीबी सोगरा और मौलवी अब्दुल अज़ीज़ की बेटी हुई थी जिनका नाम कदीरन था, उन्हें यक्ष्मा (tuberculosis) की बीमारी हो गई थी, और उस वजह से उनकी मौत हो गई थी। क्योंकि उस समय वह बीमारी लाईलाज थी, जिसकी कोई इलाज नहीं थी। उसके कुछ सालों बाद बीबी सोगरा के पति मौलवी अब्दुल अज़ीज़ की भी मृत्यु हो जाती है। बीबी सोगरा ने आज के बिहार के नालंदा जिले में कई शैक्षणिक संस्थान खोले। उन्होंने शैक्षिक संस्थानों को खोलने के लिए लगभग 28,500 एकड़ जमीन दान में दी, उन्होंने अपने पति की मृत्यु के बाद 1896 में सोगरा वक्फ एस्टेट की स्थापना की। उसके पास बिहार के पटना, मुजफ्फरपुर, समस्तीपुर, दरभंगा, नालंदा, नवादा, गया, शेखपुरा (बरबीघा) और भागलपुर जैसे जिलों में जमीनें थीं। बिहारशरीफ का सोगरा कॉलेज सोगरा,  वक्फ एस्टेट के अधीन है। उसने अपने क्षेत्र में 5 मस्जिदें बनवाईं।

1. शाही जामा मस्जिद, बिहारशरीफ, पुल पार 2. जामा मस्जिद, मुरारापुर, बिहारशरीफ 3. बुखारी मस्जिद, कागजी मोहल्ला, बिहारशरीफ 4. मोहिनी मस्जिद, मोहिनी, नालंदा 5. जामा मस्जिद, हसौरी, शेखपुरा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here